रविवार, मई 23, 2010

नहीं झिले न हम छ महीने भी?

मेरे कम्प्यूटर पर कल  से ब्लॉगस्पॉट पर कोई भी ब्लॉग नहीं खुल पा रहा है।  सिर्फ़ cached copy खुलती हैं, वो भी कभी हां और कभी न।  जबकि वर्डप्रेस, याहू और जीमेल वगैरह बखूबी काम कर रहे हैं।  एग्रीगेटर्स पर नई पोस्ट्स देखकर लग रहा है कि ये समस्या सब के साथ नहीं है(जलन और बढ़ गई है अपनी)।  कहीं  कमेंट करना भी दुश्वार हो गया है।  तीन तीन, चार चार बार कमेंट करते हैं फ़िर भी पता नहीं चलता कि यहां से तो चला गया, पर उधर पहुंचा कि नहीं।  सारे हिन्दी वाले ब्लॉगर्स(जिनसे अपना लेनदेन का व्यवहार है) अपनी अपनी पोस्ट पर एक कमेंट हमारा मान लेना, हमारी तो जैसे गुजरेगी सो देखी ही जायेगी। वैसे  हो सकता है इतना बड़ा पुण्य(टिप्पणी महादान) करने के बाद कोई हमें भी इस संकट से निकाल दे और हमारी राहु दशा भी टल जाये।
हा हा हा।

16 टिप्‍पणियां:

  1. टिप्पणी करने की टेस्टिंग करना हो तो हमारा ब्लॉग उपलब्ध है आपकी सेवा में. संकोच न करियेगा, प्लीज!! आप बहुत संकोची स्वभाव के हैं. :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. Sameer ji, dilip....Ye sab nahi chalega...
    Vaise bhi...
    LADIES FIRST...
    HAAN NAHI TO...!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. आज मो सम कौन होने का मर्म सामने आ गया !हा हा !

    उत्तर देंहटाएं
  4. कुछ सलाहें, शायद कुछ काम आयें.
    १. एक अच्छा सा एंटी-वाइरस प्रोग्राम चलाओ
    २. माइक्रोसोफ्ट/विन्डोज़ अपडेट चलाकर os अद्यतन करो.
    ३. फ्लैश, जावा, अडोबी ऐक्रोबैट आदि को अद्यतन करो.
    ४. गूगल क्रोम इंस्टाल करके उसे ही प्रयोग करो.
    ५. ऐसे ब्लॉग या साइटों पर न जाओ जिन पर क्लिक करने से कोई पोप-अप विज्ञापन खुलते हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  5. लोकल इंटरनेट सेवा प्रदाता की समस्या होगी, जो एकाध दिन में ठीक हो जाना चाहिए. त्वरित निदान हेतु ओपन डीएनएस (http://www.opendns.com/start/) का बेसिक फ्री सर्विस अपना कर देखें.

    उत्तर देंहटाएं
  6. यह समस्या मेरे साथ भी हो रही है. पिछले तीन दिन से ऐसा हो रहा है. एक बार तो गूगल क्रोम डिलीट करके वापस इंस्टाल किया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. पाबला जी ने बताया है कि ऐसा प्राइवेट इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर के साथ हो रहा है. मुझे उनकी बात सही लग रही है.

    उत्तर देंहटाएं
  7. यह सिर्फ आपकी ही नहीं बहुत से ब्लोगरों के साथ दिक्कत है ! मैं भी लैपटॉप पर प्राब्लम फेस कर रहा हूँ शनिवार से, आप डटकर या इन्टरनेट सर्विसेस किस प्रदाता की ले रहे है ?

    उत्तर देंहटाएं
  8. अबकि बार जब सब कुछ ठीक हो जाये तो ताऊ के ब्लाग पर १०१ टिप्पनीयां कर देना फ़िर ऐसी समस्या भविष्य मे कभी नही आयेगी. टेस्टेड फ़ार्मुला है.:)

    रामराम

    उत्तर देंहटाएं
  9. टिप्पणी भेजें और पता न चले कि छपी या नहीं छपी तो कब्ज़ का एहसास होता रहता है. ऐसे में निपटान की सनातनी मुद्रा में बैठकर ब्लॉग देवता का ध्यान लाभकारी बताया गया है .

    उत्तर देंहटाएं
  10. http://raviratlami.blogspot.com/2010/05/blog-post_25.html

    ये रहा जी लिंक

    प्रणाम

    उत्तर देंहटाएं
  11. @ all above
    -----------
    लोग कहते हैं कि ये ब्लॉग की दुनिया बहुत गड़बड़ है, हम नहीं मानते जी कि ये दुनिया हमारी दुनिया से कुछ अलग है।
    मुसीबत के समय हमने आवाज लगाई थी, मजाक में ही, जिनसे हमारा टिप्पणियों का व्यवहार चल रहा था। ऐसे समय में आप सब सुधीजनों ने अपने अपने ढंग से सहारा दिया।
    अब सब ठीक है, आभार ले लो जी सारे।
    और ताऊ, फ़िरौती मांगते समय सामने वाले की हैसियत तो देख लिया करो? इतनी तो अब तक छ महीने में हमारे ही न इकट्ठी हुई हैं, जो थारे ब्लॉग पर दे आयें। अपना तो अकेला प्लस प्वाईंट ही यही है कि शनि भी हमारा क्या उखाड़ेगा?
    हम धमकी में नहीं आ रहे, वैसे ही प्यार से दे आयेंगे :)

    उत्तर देंहटाएं
  12. टिप्पणी देख कर लगता तो नही कोई प्राब्लम है .....

    उत्तर देंहटाएं

सिर्फ़ लिंक बिखेरकर जाने वाले महानुभाव कृपया अपना समय बर्बाद न करें। जितनी देर में आप 'बहुत अच्छे' 'शानदार लेख\प्रस्तुति' जैसी टिप्पणी यहाँ पेस्ट करेंगे उतना समय किसी और गुणग्राहक पर लुटायें, आपकी साईट पर विज़िट्स और कमेंट्स बढ़ने के ज्यादा चांस होंगे।